top of page

Manzil Toh Milegi Hi Milegi

By Anshu Kumari


आँखों में सपने लेकर तू चल,

अपने राहो के मुश्किलों का सामना करके तू चल,

अपनों का साथ लेकर, खुद की कामयाबी का विश्वास लेकर तू चल,

मेहनत रंग लाती हैं इस हौसलें से चल,

अक्सर लोग हार जाते हैं 2 अपने उस हार को जीत में बदलकर तू चल,

मंज़िल तो मिलेगी ही मिलेगी, इस विश्वास से तू चलl




गुलाब की खुशबू के लिए काँटों से मत डर,

सफलता के लिए असफलता से मत डर,

सुख के लिए दुख से मत डर,

कामयाबी के लिए त्याग से मत डर,

आसमां को छूने के लिए ऊँची उड़ान से तू मत डर,

जिंदगी में हारने की डर से तू मत डर,

मंज़िल तो मिलेगी ही मिलेगी इस विश्वास से तू चलl



By Anshu Kumari




74 views6 comments

Recent Posts

See All

Maa

By Hemant Kumar बेशक ! वो मेरी ही खातिर टकराती है ज़माने से , सौ ताने सुनती है मैं लाख छुपाऊं , वो चहरे से मेरे सारे दर्द पढती है जब भी उठाती है हाथ दुआओं में , वो माँ मेरी तकदीर को बुनती है, भुला कर 

Love

By Hemant Kumar जब जब इस मोड़ मुडा हूं मैं हर दफा मोहब्बत में टूट कर के जुड़ा हूं मैं शिक़ायत नहीं है जिसने तोड़ा मुझको टुकड़े-टुकड़े किया है शिक़ायत यही है हर टुकड़े में समाया , वो मेरा पिया है सितमग

Pain

By Ankita Sah How's pain? Someone asked me again. " Pain.." I wondered, Being thoughtless for a while... Is actually full of thoughts. An ocean so deep, you do not know if you will resurface. You keep

٦ تعليقات

تم التقييم بـ ٠ من أصل 5 نجوم.
لا توجد تقييمات حتى الآن

إضافة تقييم
Minu Anand
Minu Anand
٢١ مايو ٢٠٢٣
تم التقييم بـ ٥ من أصل 5 نجوم.

Good!🏅

إعجاب

Anju Sahu
Anju Sahu
٢١ مايو ٢٠٢٣
تم التقييم بـ ٥ من أصل 5 نجوم.

Amazing

إعجاب

RAHUL KUMAR
RAHUL KUMAR
٢١ مايو ٢٠٢٣
تم التقييم بـ ٥ من أصل 5 نجوم.

Nice poem 😊

إعجاب

Priyanka Kumari
Priyanka Kumari
٢١ مايو ٢٠٢٣
تم التقييم بـ ٥ من أصل 5 نجوم.

very nice poem

إعجاب

Sanyucta Devi
Sanyucta Devi
٢١ مايو ٢٠٢٣
تم التقييم بـ ٥ من أصل 5 نجوم.

Bahut badhiya

إعجاب
bottom of page