• hashtagkalakar

A Home To Me

By Chubala Hongang


You may write the best tragic stories,

But the moment you held me the pen,

I swear I’d rewrite them all into a beautiful fairytale.

You may burn the cities down,

Stop the day and give me all the warmth,

But my heart will always long for the warmth of your skin.




You may offer me the moon to walk on,

And the clouds to sleep on,

However, I’d rather walk with you up the thorns and rocks,

Than to walk the paradise all alone.

And you may run down the hills,

Jump off the cliffs, fly beyond the skies,

But when night falls,

and you feel tired and cold,

I hope you come back home.

A home to me.


By Chubala Hongang




1 view0 comments

Recent Posts

See All

By Priya Diwan ये रिश्ते बड़े ही नाज़ुक होते हैं, उम्मीद की राह पर चलते रहते हैं। ऐसा कोई रिश्ता नहीं जहां उम्मीद ना हो, और उन्हीं उम्मीदों के टूटने का गम ना हो। जीवन साथी से हर राह पर साथ होने की उम्

By Priya Diwan बैठी थी मैं अपने सारे गमों को छुपाए, हाल क्या है मेरा कोई जान ना पाए। चाह तो दिल खोल कर चिल्लाने की थी, पर हालत मेरी बेबसी की थी। समझाना मुश्किल था लोगों को, जो मैं खुद भी नहीं समझ पा र

By Ankit Kumar Roy ऐ मैखाने में लगी गुलाबों, तुम दिल्लगी न करो, कोई आंधी सा आएगा ,और तोड़ के चला जायेगा। तुम्हारे खुशबुओं की चाह नहीं यहां किसी को भी, यहां तो बस तुम्हारे पंखुड़ियों के प्यासे आते हैं।