top of page
  • hashtagkalakar

वक्त

By Prerna


ये जो वक्त हैं,चल जाएगा

कल फिर एक नया सेवरा आगेगा

हमे एक नए कल से मिलाएगा

जो ये गमों के पहाड़ हैं

हमको इनसे कही दूर ले जाएगा

अच्छा वक्त का इंतजार न करो

जो ये पल जा रहे हैं

यही पल हैं

जिन्हे हमे अच्छे से जीना है

और अपने आज को

अच्छे वक्त में बदलना है




ये अच्छे कल के इंतजार में

ज़िंदगी ना बीता देना

क्यों जिंदगी में

कबी ऊंच तो कभी नीचा

ये तो चलती रहेगी

जिंदगी के चक्करों से तो

सामना करना ही पड़ेगा

गमों मैं डूबने से न कुछ निकला है

ना कुछ निकलेगा

कभी कभी ये समय हमारे हित में होगा

कभी हमरे विपक्ष में

पर इसका मतलब यह नहीं कि

हम जिंदगी को अच्छे से जीना छोड़ दे

जीना तो है ही ये जीवन पराण जब तक है

अच्छे से जियो गए तो यादगार

और अच्छे से नहीं तो पछतावा

वक्त हैं सोच लो ,

जिंदगी मैं यादगार किस्से जोड़ लो

जब भी कभी याद करो बीता वक्त

यादों का एक भंडार हो

और लोगो को सुनाने के लिए किस्से हजार हो ।।


By Prerna









5 views0 comments

Recent Posts

See All

By Amritha G Dear diary, Today I turned 9 years old . I feel like a big girl. I want to become a woman like my aunt Susan. She is a great person. She has great hair, beautiful face and is loved by eve

By Swarnavo Ghosh Amid the chaos of the entwined dreams, I was born out of agitation like a refulgent beacon of hope in the abyss of despondency. I was born to be the ultimate panacea in a world of fa

By Saranyadevi J A positive unharming distinct contagious spread of one-to-one transmission from human to humans through facial expression – SMILE…… Exceptional cases – If a person didn’t smile back,

bottom of page