top of page

पगली

Updated: Jun 3, 2023

By Dr. Seema Sarkar



पगली के सीने I भी दिल है

पगली फिर भी पराली है।

खाने पीने की कब उसको सुध

सोना और बिछौना क्या

तपती धूप और ओला पानी

चाहे जितना दुखदायी हो,

कहती नहीं किसी से कुछ भी

झेल सभी कुछ लेती है

पगली के सीने में भी दिल है



पगली फिर भी पगली है।

लेकिन जब उसके मुन्ने को

कोई छीन के ले लेना चाहे

झल्ला कर उठती है तब वो,

आग बबूला हो जाती है

ममता स्नेह न जाने क्या- क्या

कहाँ से उसमें आ जाती है,

बात समझने की हैं यारों

पगली के सीने में भी दिल है

पगली फिर भी पगली है।


By Dr. Seema Sarkar



16 views2 comments

Recent Posts

See All

Maa

By Hemant Kumar बेशक ! वो मेरी ही खातिर टकराती है ज़माने से , सौ ताने सुनती है मैं लाख छुपाऊं , वो चहरे से मेरे सारे दर्द पढती है जब भी उठाती है हाथ दुआओं में , वो माँ मेरी तकदीर को बुनती है, भुला कर 

Love

By Hemant Kumar जब जब इस मोड़ मुडा हूं मैं हर दफा मोहब्बत में टूट कर के जुड़ा हूं मैं शिक़ायत नहीं है जिसने तोड़ा मुझको टुकड़े-टुकड़े किया है शिक़ायत यही है हर टुकड़े में समाया , वो मेरा पिया है सितमग

Pain

By Ankita Sah How's pain? Someone asked me again. " Pain.." I wondered, Being thoughtless for a while... Is actually full of thoughts. An ocean so deep, you do not know if you will resurface. You keep

2 comentários

Avaliado com 0 de 5 estrelas.
Ainda sem avaliações

Adicione uma avaliação
Divya Rai
Divya Rai
10 de jun. de 2023
Avaliado com 5 de 5 estrelas.

Mother's love is the most powerful thing that exists in this world. Beautifully penned down. I feel every word for my mother. Miss you

Curtir

Anshika Tewari
Anshika Tewari
21 de mai. de 2023
Avaliado com 5 de 5 estrelas.

A mothers love is like none other's, a child's first home and the most pious relationship in the world , the lovely poem by ma'am is truly heart touching and universal in its appeal as it encompasses the remarkable spirit of a protective mother ,if she senses that her flesh and blood is in danger

Curtir
bottom of page