top of page

बेनिशा

Updated: Jun 3, 2023

By Ritik Koul




बेनिशा यह रास्ता वहां है,

अंधेरों में छुपा है ।

कब से यह खाली पड़ा है,

कैदी अब खुद से लड़ा है ।

तू मुकम्मल मुझे, यूं मिलता रहे,

तो क्या है सजा।

तू किताबों से भी, बड़ी सीख है,

कहानी सुना।

अनसुनी कितनी पुकारे,बस तू ही है जो कहे बता।

तू सुकून दे मुझे, हां तुझ में बुझे,

सवालों से भीगे हुए यह मेरे दो जहां।

तू समेटे मुझे कभी ना कहें,

कि खामोश हो जाना सुननी मुझे दास्तां ।




Bay Nisha


Bay nisha yeh rasta waha hai,

Andhaero main chuppa hai.

Kabh say yeh khaali padda hai,

kaadhe ab khud say laada hai.

Tu mukamal mujhe yu milta rahe

toh kya hain saaza,

Tu kitabo say be badde sheekh hai

khahani suna,

Unsune kitne pukare, Bs tu he hai jo khe bta.

Tu sukoon day mujhe, han tujh main bujje,

Sawalo say beeghe hue yeh mere doo jahan.

Tu samayte mujhe, kabhi nah kahe

Ki khamosh ho ja nah sunne mujhe dasta.

By Ritik Koul





2 views0 comments

Recent Posts

See All

Maa

By Hemant Kumar बेशक ! वो मेरी ही खातिर टकराती है ज़माने से , सौ ताने सुनती है मैं लाख छुपाऊं , वो चहरे से मेरे सारे दर्द पढती है जब भी उठाती है हाथ दुआओं में , वो माँ मेरी तकदीर को बुनती है, भुला कर 

Love

By Hemant Kumar जब जब इस मोड़ मुडा हूं मैं हर दफा मोहब्बत में टूट कर के जुड़ा हूं मैं शिक़ायत नहीं है जिसने तोड़ा मुझको टुकड़े-टुकड़े किया है शिक़ायत यही है हर टुकड़े में समाया , वो मेरा पिया है सितमग

Pain

By Ankita Sah How's pain? Someone asked me again. " Pain.." I wondered, Being thoughtless for a while... Is actually full of thoughts. An ocean so deep, you do not know if you will resurface. You keep

Comments

Rated 0 out of 5 stars.
No ratings yet

Add a rating
bottom of page