top of page

नाम पट्टी

By Deepshikha


पिछली दफा जाने से पहले, तुम थमा गए मुझे कुछ यादें, कुछ ख्वाब और एक नाम पट्टी,

मेरा और तुम्हारा नाम लिखा था जिसपर, मैंने ही।


सहेज कर रख लिया था मैंने उसे, इस यकीन से कि अगली बार जब तुम आओगे तो तुम मेरा वो घर भी ले आओगे, जिसके सामने वाले दरवाज़े पर फ्रेम करवा कर लगवाऊंगी मैं वो नाम पट्टी,


मैंने सहेज लिए थे कुछ बीज भी, जिनके पौधे हमें साथ में उगाने थे उस घर की बल्कॉनी में।


और मैंने बनानी शुरू कर दी थी तस्वीरें, अलग अलग भ्रांति की, उस घर की दीवारों पर सजाने के लिए,


मैंने सोच लिए थे दीवारों के रंग, कमरों के नाम, कुर्सियां, मेज़, पर्दे, सजावट सब,


और मैंने मन ही मन बुन लिए थे ख्वाब, उस ज़िन्दगी के जो साथ में हम गुजारते वहां।



मगर...

अब समझ पाती हूं कि,


उस रोज़ तुम वो सब चीज़ें सहेजने के लिए सौंप कर नहीं गए थे, उस रोज़ तुम वो मोहबब्त की सारी अधूरी निशानियां मुझे लौटा कर गए थे।


शायद बहुत ही सुलझी हुए किसी चाल की तामील करते,


सारे खत लौटा गए थे,

सब एहसास लौटा गए थे,

वो नाम पट्टी लौटा गए थे,

और बदले में ले गए थे,

मेरा ठौर, मेरा घर...


ताकि मेरे पास लौटने की कोई वजह ना रहे...


By Deepshikha



81 views9 comments

Recent Posts

See All

Hogwarts Letter

By Shivangi Jain To, All those who are still waiting for their Hogwarts Letter Dear, Life has always been a wonder to all those who have paused to take a look at it. From the mysteries of nature, to t

A Letter From Your Distant Love

By Naina Alana Mon beau, How are you doing? From the stories I hear in passing through our mutual friends, you seem to be enjoying your life. Just how you wanted. Just how you loved to do. I am happy

Love Letter

By Nusrat Jahan Dear Love, Do you know how it feels to be far from you? It feels like a body without a soul. Do you know about the amount of pain I endure? It's an excruciating pain, a type of pain a

9 Comments

Rated 0 out of 5 stars.
No ratings yet

Add a rating
Nehchal Jindal
Nehchal Jindal
Oct 16, 2023
Rated 5 out of 5 stars.

Beautiful poem!

Like

Wasi Ahmad
Wasi Ahmad
Oct 08, 2023
Rated 5 out of 5 stars.

A heartfelt reflection on lost love, memories, and a home that's forever changed, capturing poignant nostalgia.

Like

Divine Blessings
Divine Blessings
Oct 04, 2023
Rated 5 out of 5 stars.

Naam Patti ke bhavarth mein Mann ki Khyal bakhoobi bata diye...Lovely lines😃

Like

Varun Goyal
Varun Goyal
Sep 18, 2023
Rated 5 out of 5 stars.

These touch you deep…..❤️

Like

Markownikov
Markownikov
Sep 18, 2023
Rated 5 out of 5 stars.

amazinggggg

Like
bottom of page